Prime Minister Research Fellowship jamia students selected
Posted By ideology Posted On

Prime Minister Research Fellowship: जामिया के 6 छात्रों का रिसर्च फेलोशिप के लिए चयन

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छह रिसर्च स्कॉलर का प्रधानमंत्री रिसर्च फेलोशिप (Prime Minister Research Fellowship) के लिए चुना गया है। इनमें से पांच छात्राएं हैं।

सिविल इंजीनियरिंग विभाग से फोजिया तबस्सुम और मोमिना, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग से अजरा मलिक, सेंटर फॉर नैनोसाइंस एंड नैनो टेक्नोलॉजी से फिरोज खान, सेंटर फॉर इंटरडिसिप्लिनरी रिसर्च इन बेसिक साइंसेज से आलिया तैयब और सेंटर फॉर फिजियोथेरेपी से आशी सैफ का चयन हुआ है।

विश्वविद्यालय ने कहा कि दिसंबर 2020 ड्राइव की लेटरल एंट्री योजना के तहत Prime Minister Research Fellowship के लिए चयन किया गया है।

पीएमआरएफ-जेएमआई के कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर अब्दुल कयूम अंसारी ने कहा कि छह शोधकर्ताओं को व्यक्तिगत रूप से पहले दो वर्षों के लिए 70,000 रुपये, तीसरे वर्ष के लिए 75,000 रुपये, चौथे और पांचवें वर्ष के लिए क्रमशः 80,000 रुपये की फेलोशिप मिलेगी।

Prime Minister Research Fellowship

 

इसके अलावा, प्रत्येक फेलो को शोध अनुदान मिलेगा। Prime Minister Research Fellowship के तहत प्रति वर्ष 2 लाख (पांच साल के लिए कुल 10 लाख रुपये) का अनुदान मिलेगा।

जामिया की कुलपति नजमा अख्तर ने आशा व्यक्त कि यह फ़ेलोशिप अन्य छात्रों विशेषकर विश्वविद्यालय की छात्राओं को विज्ञान और अनुसंधान में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करेगी।

उसने कहा, “जेएमआई के लिए उत्कृष्टता सर्वोपरि है और अपने छात्रों को महान ऊंचाइयों को प्राप्त करने के लिए हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए कड़ी मेहनत करता है,” ।

कुलपति ने इस महान उपलब्धि के लिए पीएमआरएफ-जेएमआई कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर अब्दुल कयूम अंसारी के प्रयासों की भी सराहना की।

Must Read Hadith about Ramadan

इससे पहले, मई 2020 की लेटरल एंट्री स्कीम के तहत सेंटर फॉर नैनोसाइंस एंड नैनो टेक्नोलॉजी (CNN), JMI की सुश्री मरिया खान और सुश्री अबगीना शबीर को फेलोशिप के लिए चुना गया था।

Prime Minister Research Fellowship

Comments (0)

Leave a Reply

%d bloggers like this: