muslim-ban-in-temple
India देश

Muslim Ban In Temple वाले पोस्टर के ख़िलाफ़ पुलिस ने दर्ज किया केस

ब्यूरो: अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के डासना में एक मुस्लिम बच्चे द्वारा मंदिर में पानी पीने पर पिटाई कर दी गई थी। इसके उपरान्त देहरादून में मंदिर के बाहर Muslim Ban In Temple गैर हिन्दुओं के प्रवेश को लेकर मनाही वाले पोस्टर लगा दिए गए थे।

फिलहाल अब इस मामले में पुलिस ने धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में जीतू रंधावा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

आपको बता दें कि जीतू रंधावा हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव हैं। देहरादून की एसपी (सिटी) सरिता डोभाल ने बताया कि घण्टाघर के आस पास एक मंदिर में एक बैनर टंगे होने की सूचना मिली थी।

muslim-ban-in-temple-1

Muslim Ban In Temple वाले बैनर को हटवा दिया गया है और बैनर में दर्ज नम्बर को वेरिफाई करवाया जा रहा है। इसी नम्बर के आधार पर धार्मिंक भवनाओं को भड़काने के आधार पर आईपीसी की धारा 153-A के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया गया है। गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।

हिंदु युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द वाधवा का कहना है कि अब हिंदु समाज को अपनी ताकत दिखाते हुए अपने धर्म और समाज की रक्षा के लिए स्वयं आगे आना होगा।

Must read: Azaan On Loudspeaker Issue मौलाना रशीदी अज़ान विवाद पर बोले- ‘हमें मंदिरों में शंखनाद और आरती पर कोई आपत्ति नहीं’

सब कुछ सरकार के भरोसे नही छोड़ा जा सकता। उन्होंने कहा की जिस भी मंदिर मे कोई विधर्मी अंदर घुसता है तो उसे मौके पर पकड़कर पुलिस के हवाले किया जाएगा।

कांग्रेस ने इसे बीजेपी और संघ परिवार द्वारा धार्मिक ध्रुवीकरण करने की साजिश करार दिया है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि उत्तराखंड में वैसे भी सभी धर्मों के लोग सभी धर्मों के धार्मिक स्थलों का सम्मान करते हैं।

सामान्य तौर पर भी न कोई मुसलमान मंदिर में जाता है और न कोई हिंदू मस्जिद में पहुंचता है। फिर इस तरह के बैनर लगाना अनुचित है।

सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है। इसलिए अब धार्मिक ध्रुवीकरण कर समाज में माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है।

वहीं बीजेपी के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने कांग्रेस के आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि हिंदू युवा वाहिनी बीजेपी का कोई संगठन नहीं है। जिस संगठन ने बैनर चिपकाए उसी से पूछा जाना चाहिए कि उसने ऐसा क्यों किया है।

Muslim Ban In Temple को लेकर अगर आपके कुछ सुझाव हैं तो कमेंट सेक्शन में ज़रूर लिखें

पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply