quran desecration case
India देश

Quran desecration case: नरेश यादव को पंजाब की अदालत ने किया बरी

ब्यूरो: Quran desecration case जून 2016 में कुरान की बेहुरमती के एक मामले में संगरूर की जिला अदालत ने दिल्ली के आम आदमी पार्टी AAP के विधायक नरेश यादव के समर्थन में फैसला सुनाया है।

पंजाब के मालेरकोटला जून 2016 में घटित Quran desecration case में फैसला आने के बाद आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यादव को बरी होने पर बधाई दी।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, हमारे खिलाफ लगाए गए झूठे मामलों में से आम आदमी पार्टी के एक और विधायक को बरी कर दिया गया। बधाई हो नरेश।

2016 में संगरूर के मालेरकोटला में अज्ञात लोगों ने धार्मिक किताब के पन्ने फाड़ कर फेंक दिए थे। इस घटना से पूरे इलाके में तनाव फैल गया था।quran desecration case AAP MLA

ये भी पढ़ें: Batla House Case: आरिज खान को फांसी, दिल्ली की साकेत कोर्ट ने सुनाया फ़ैसला

समुदाय विशेष की भारी भीड़ ने स्थानीय अकाली दल विधायक के घर पर तोड़-फोड़ की थी, जिसके बाद हालात को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस को गोलियां भी चलानी पड़ी थीं। बाद में इस बेअदबी मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

गिरफ्तार लोगों में से एक मुख्य साजिशकर्ता विजय ने आम आदमी पार्टी के दिल्ली के महरौली से विधायक नरेश यादव का नाम पूरी साजिश रचने के लिए लिया था।

पंजाब पुलिस को रिमांड के दौरान Quran desecration case में दिए बयान में कहा है कि इसी विधायक के कहने पर उसने मुस्लिम बहुल मलेरकोटला के इलाके में तनाव फैलाने के लिए किताब के पन्ने फाड़ने की साजिश रची थी।

इसके बाद नरेश यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। उन पर पुलिस ने आरोप लगाए थे कि उन्होंने कुरान शरीफ की बेअदबी करने की साजिश रची थी। सुनवाई के दौरान नरेश यादव के वकीलों की दलील थी कि नरेश यादव के खिलाफ बेअदबी के कोई पुख्ता सबूत नहीं हैं।

Quran desecration case को लेकर आपकी क्या राय है? कमेंट सेक्शन में ज़रूर लिखें

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply