ujjain-clash-meera-bai
India देश

Ujjain case: दिहाड़ी मजदूर रफीक का घर टूटने के बाद उनके परिवार को सहारा दे रही हैं मीरा

Ujjain case: बीते दिनों उज्जैन के बेगम बाग में हुई हिं’सा में बहुत से लोगों को अपने मकान गंवाने पड़े। ऐसे ही एक दिहाड़ी मजदूर अब्दुल रफीक का दो मंज़िला मकान प्रशासन ने गिरा दिया था। इस कार्यवाही में रफीक का 19 सदस्यों का परिवार पड़ोसी मीरा बाई के यहां रह रहा है।

दरअसल भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओँ ने इलाके में नारेबाजी की औऱ इसके बाद पथराव शुरू हो गया। प्रशासन को खबर मिली तो इस पर कार्रवाई करते हुए 26 दिसंबर को उनका मकान ढहा दिया।

मीराबाई ने अपने घर का एक कमरा रफीक को दे दिया। उनका कहना है कि अब्दुल रफीक के साथ बुरा हुआ, उनकी गलती नहीं थी।

रफीक दिहाड़ी मजदूर हैं और उन्होंने सरकारी पट्टे की जमीन पर पिछले 35 साल में पाई-पाई जोड़कर दो मंजिला मकान बनाया था। उनका कहना है कि पुलिस हीना औऱ यासमीन नाम की दो महिलाओं की तलाश कर रही थी।

बीजेवाईएम मोर्चा पर मीरा की छत से दो महिलाएं पत्थरबाजी करती पकड़ी गई थीं। जब प्रशासन को पता चला कि मीरा हिंदू हैं तो वे उनके घर की तरफ मुड़ गए। उनकी पत्नी नफीसा और बेटियों को बोलने तक का वक्त नहीं मिला।

Leave a Reply