Aligarh-Exhibition-2021-inaugration
Posted By ideology Posted On

Aligarh Exhibition 2021: नुमाइश के लिए एएमयू ने जारी की गाइडलाइन्स, सोशल मीडिया पर भी…

Aligarh Exhibition 2021: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर में हर साल लगने वाली ऐतिहासिक नुमाइश हर बार की तरह इस बार भी लगने वाली है। नुमाइश का आयोजन पांच फरवरी से दो मार्च तक रहेगा।

Aligarh Exhibition 2021 के उद्घाटन से पूर्व एक वीडियो भी जारी किया जाएगा। वीडियो में नुमाइश की विशेषता और कोविड-19 से बचाव के लिए नियमों के पालन को लेकर एक सोशल मैसेज भी होगा।

वहीँ इस बार Aligarh Exhibition इस वजह से थोड़ी अलग होगी क्यूंकि इस वर्ष सोशल मीडिया पर इसका सीधा प्रसारण होगा।

आपको बता दें कि ऐसा पिछले 45 वर्षों में कभी नहीं हुआ है।

Aligarh Exhibition 2021 को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर लाइव प्रसारण एवं लाइव वीडियो, सोशल मैसेज आदि के माध्यम सेे देेेश और दुनिया तक पहुंचाया जाएगा।

वहीँ अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी के प्रॉक्टर ऑफिस ने प्रदर्शनी में जाने वाले अपने छात्रों के लिए दिशानिर्देश भी जारी किये हैं। प्रॉक्टर कार्यालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार Aligarh Exhibition 2021 में आने वाले सभी छात्रों को मास्क पहनना और भारत सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना आवश्यक है।

नोटिस में प्रोफेसर मोहम्मद वसीम अली (प्रॉक्टर) ने छात्रों से प्रदर्शनी में जाने के दौरान अपना पहचान पत्र ले जाने का भी आग्रह किया है। पुरुष छात्रों को सफेद पाजामा के साथ काले शेरवानी पहनने के लिए कहा गया है।

प्रदर्शनी मैदान में प्रॉक्टोरियल कैंप रोजाना रात 10 बजे बंद हो जायगा, इसलिए छात्रों को नुमाइश मैदान 10 बजे तक छोड़ने के लिए भी कहा गया है।

Aligarh Exhibition 2021 nazeer hotel jhanda hotel
Aligarh Exhibition 2021 nazeer hotel jhanda hotel

कृष्णांजलि, कोहिनूर और मुक्ताकाश हॉल में कार्यक्रमों में जाने वाले एएमयू छात्रों से आग्रह किया गया है कि वे विश्वविद्यालय द्वारा अंकित किये गए स्थान पर ही रहें और लाल ताल, हुल्लड़ बाजार, हिंडोल, नौटंकी के क्षेत्रों में न जाएँ।

एएमयू ने छात्रों को प्रदर्शनी ग्राउंड के रास्ते पर यातायात नियमों का पालन करने के लिए भी कहा है। विश्विद्यालय ने लिखा है कि, “उन्हें (छात्रों को) प्रदर्शनी परिसर में चलते समय एक-दूसरे का हाथ नहीं पकड़ना चाहिए”, नोटिस में उल्लेख किया गया है कि छात्रों से भीड़ के चलने की व्यवस्था का पालन करने और ड्यूटी पुलिस कर्मियों और प्रॉक्टोरियल टीम के साथ सहयोग करने का अनुरोध किया जाता है।

“गरिमा, ईमानदारी और विनम्रता एएमयू छात्रों की कुछ विरासतें हैं और उसी को बनाए रखा जाएगा। निर्देशों का पालन न करने वाले छात्रों को एएमयू छात्रों के आचरण और अनुशासन नियम, 1985 के अनुसार निपटाया जा सकेगा”

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ दबाएँ। Facebook Muslims & Islam

Comments (0)

Leave a Reply

%d bloggers like this: