amu centenary celebrations
India

शताब्दी समारोह में AMU को मिल सकती है 140 करोड़ की सौगात, इंस्टीट्यूट ऑफ वोमेन…

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर में स्थित अलीगढ़ मुस्लिम युनिवेर्सिटी AMU के सौ साल पूरे होने जा रहे हैं। इस मौके पर इंतज़ामिया ने बड़ा कदम उठाया है। हाल ही में इंतज़ामिया ने केंद्र सरकार को इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल एंड आक्यूपेशनल स्टडीज वोमेन के लिए 140 करोड़ का प्रपोजेल भेजा था।

माना जा रहा है कि 22 दिसंबर को शताब्दी समारोह के वर्चुअल कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुहर लगा सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो यूनिवर्सिटी और प्रो. तारिक मंसूर के लिए यह किसी इतिहास से कम नहीं होगा। क्योंकि पीएम मोदी सीधे तौर पर एएमयू को पहली बार कुछ देंगे। यूनिवर्सिटी बिरादरी को भी उनसे काफी उम्मीदें।

वीमेंस कॉलेज यथावत रहेगा

इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल एंड आक्यूपेशनल स्टडीज वोमेन यूनिवर्सिटी का एक नया हिस्सा होगा। जिसका निर्माण यूनिवर्सिटी के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के पास प्रस्तावित है।

एएमयू के वीमेंस कॉलेज से यह पूरी तरह अलग होगा। वीमेंस कॉलेज यथावत रहेगा। इस इंस्टीट्यूट में लड़कियों के लिए रोजगार परक कोर्स होंगे। जो अभी एएमयू में नहीं हैं।

कुछ दिन पहले ही 1यूनिवर्सिटी की ओर से 140 करोड़ का प्रपोजल एजूकेशन मिनिस्ट्री को भेजा गया है। 59 पेज के प्रपोजल में कोर्स, स्टॉफ व निर्माण आदि पर होने वाले खर्च को ब्यौरा शामिल किया गया है। भवन का नक्शा व मॉडल भी शामिल किया गया है। भवन तीन मंजिला होगा।

ये होंगे कोर्स

नर्सरी टीचर्स ट्रेनिंग (एनटीटी) में सर्टिफिकेट डिप्लोमा, टीचर्स ट्रेनिंग फॉर चिल्ड्रेन विद स्पेशल नीड्स (टीटीएस) में डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा व बेचलर डिग्री, एजूकेशन -कॅरियर काउंसलिंग में डिप्लोमा व एडवांस डिप्लोमा, फैशन एसेसरीज डिजाइनिंग (टीएफडी) में डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा, बीए, बीएससी, बी वॉक, एमए, एमएससी व एमवॉक और इंटीरियर डिजाइनिंग (आइडी) में डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा, बीए, बीएससी, बी वॉक, एमए, एमएससी व एमवॉक कोर्स शामिल हैं।

इनके अलावा मैनेजमेंट, मेडिकल, इंफोरमेशन टेक्नोलॉजी, वेस्ट मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी, फूड टेक्नॉलोजी, ट्रेवल एंड टूरिज्म, ब्यूटी एंड वेलनेस और आर्ट एंड कल्चर में भी सर्टिफिकेट व डिप्लोमा कोर्स शामिल किए गए हैं।

दारा शिकोह सेंटर के लिए भी

एएमयू ने दारा शिकोह सेंटर फॉर इंटरफेथ अंडर स्टेंडिंग एंड डायलॉग के लिए भी बजट मांगा। देश का इस तरह का यह पहला सेंटर है। एजूकेशन मिनिस्ट्री को भेजे दो करोड़ के प्रपोजल में सेंटर की नई इमारत बनाने, स्टॉफ की नियुक्ति करने व पीएचडी की कक्षाएं शुरु करने की मांग की है।

इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल एंड आक्यूपेशनल स्टडीज वोमेन के अलावा कई और प्रपोजल एजूकेशन मिनिस्ट्री को भेजे हैं। इंस्टीट्यूट वोमेन का निर्माण आंबेडकर हॉल के सामने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की जमीन पर कराया जाना प्रस्तावित है।

वहां जमीन भी काफी है। इस सेंटर के बनने से छात्राओं को रोजगार परक कोर्स करने के अवसर मिलेंगे। सरकार से उम्मीद है इस पर अमल जरूरी करेगी।

प्रो. तारिक मंसूर, कुलपति एएमयू

Leave a Reply