Love Jihad fake case
India

धर्म-परिवर्तन विरोधी कानून के तहत मामला हुआ था दर्ज, बाद में महिला ने Love Jihad से किया इनकार

ब्यूरो: Love Jihad के खिलाफ उत्तर प्रदेश सरकार जब से कानून लाई है तब से इस कानून के दुरूपयोग के भी कई मामले सामने आए हैं। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के नगला मुल्ला गाँव में सामने आया है।

जानकारी के अनुसार यहाँ रहने वाले एक मुस्लिम परिवार को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। परिवार के एक व्यक्ति के खिलाफ पुलिस ने नए धर्म-परिवर्तन विरोधी कानून के तहत मामला दर्ज़ किया है।

वहीँ इस मामले में शामिल 19 वर्षीय महिला ने मजिस्ट्रेट के सामने गुरुवार को एक बयान में कहा कि उसने अपनी मर्जी से 23 साल के मुस्लिम युवक के साथ घर छोड़ा था। महिला ने कहा कि उसने अदालत में उससे शादी की थी और धर्मांतरण नहीं किया था।

पुलिस ने कहा कि महिला के गांव के कुछ लोग और पड़ोसी जमालपुर के कई लोग आरोपी के घर के बाहर इकट्ठा हुए और बुधवार को उसके परिवार के सदस्यों का पीछा किया।

पुलिस ने कहा कि उन्होंने हिंसा भड़कने से पहले कार्रवाई की और दोनों गांवों में पुलिसबल तैनात कर दिया है। महिला 22 दिसंबर को युवक के साथ घर से भाग गई थी और 26 दिसंबर को उसके खिलाफ धर्मांतरण विरोधी कानून और अपहरण का मामला दर्ज किया गया था।

सोमवार को पुलिस ने महिला का पता लगाया गया और उसे उसके परिवार को सौंप दिया गया। वहीं पुलिस 23 वर्षीय युवक की तलाश कर रही है। मत्सेना पुलिस स्टेशन अधिकारी विनय कुमार मिश्रा ने कहा, “महिला ने कहा कि भागने से पहले उन्होंने कोर्ट मैरिज की थी।

उसके दावों के अनुसार, उन्होने निकाह किया था। उनके द्वारा दिये गए दस्तावेजों का सत्यापन कर रहे हैं। दस्तावेजों में उनका नाम ज़ीनत लिखा हुआ है और वह दावा कर रही है कि उसने धर्मांतरण नहीं किया।”

मिश्रा ने कहा कि युवती ऐसी किसी भी आरोप से इंकार कर रही है कि उसे शादी के लिए मजबूर किया गया या उसे ऐसा करने के लिए किसी दबाव का सामना करना पड़ा था।

मिश्रा ने कहा कि महिला ने कहा कि वह पिछले तीन सालों से 23 वर्षीय को जानती थी और वे प्यार में थे। पुलिस ने कहा कि वे मामले की जांच कर रहे हैं और वे आरोपियों की भी तलाश कर रहे हैं।

Leave a Reply